HomeNewsसूरत :  युवक की 37 साल की उम्र में हुई शादी, पांचवें...

सूरत :  युवक की 37 साल की उम्र में हुई शादी, पांचवें दिन ही दुल्हन रफुचक्कर हो गई, जानें वजह


लुटेरी दुल्हन की एक और घटना सूरत में हुई है। सूरत के कतारगाम इलाके में रहने वाले 37 वर्षीय व्यक्ति की पत्नी शादी के पांचवें दिन ही फरार हो गई है। दरअसल, गैराज का धंधा करने वाले एक युवक को शादी के बहाने ठगों का गिरोह मिल गया। युवक की शादी नहीं हो रही थी तो भावनगर के व्यक्ति (आराेपी) ने मुंबई की एक लड़की के साथ मिलकर उसकी शादी करा दी। हालांकि पांच दिन साथ रहने के बाद युवती अपनी मां से मिलने जाने का बहाना बनाकर घर से कपड़े व जेवरात लेकर भाग गई। युवक ने जब शादी कराने वाले से संपर्क किया तो उसने फोन उठाना बंद कर दिया। युवक की शादी कराने के लिए गिरोह ने 1.80 लाख रुपये ऐंठ लिये थे, जिससे पीड़ित युवक ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।

See also  सूरत : आईएमए और जेएफएस द्वारा डॉक्टरों और पत्रकारों के बीच एक दिलचस्प सम्मेलन का आयोजन 

मुंबई की कविता सुनील वाघ से कराई थी शादी

घटना का विवरण यह है कि कतारगाम क्षेत्र के हरिओम सोसाइटी में रहने वाले 37 वर्षीय महेशभाई विठ्ठलभाई तरसरिया की शादी नहीं हुई थी। इसी बीच शादी करा देने के बहाने ठगों के एक गिरोह मिल गया। मोमिनभाई भाभाभाई गाहा (निवासी-मोटा असराना, महुवा जिला, भावनगर) और गणेश बंधु धीपे (निवासी-नासिक महाराष्ट्र), हर्षद नामक आरोपी ने मुंबई की कविता सुनील वाघ (निवासी-तलेगांव इगतपुरी, नासिक, महाराष्ट्र) नाम की लड़की से महेशभाई की शादी करा दी। गत 10/3/2022 को शादी के बाद कविता महेशभाई के साथ रहने आ गई।

 

पाँच दिन बाद कविता ने अपनी माँ की तबीयत खराब होने का बहाना बनाया

See also  સુરત નગર પ્રાથમિક શિક્ષણ સમિતિની સ્કૂલમાં યોગ વેદાંત સમિતિના કાર્યક્રમની મંજૂરી રદ કરાઈ

महेशभाई की शादी के एवज में मोमिन और उसके गिरोह ने कुल 1.80 लाख रुपये टुकड़े-टुकड़े में लिये थे। पाँच दिन बाद कविता ने अपनी माँ की तबीयत खराब होने का बहाना बनाया। लिहाजा महेश तरसरिया अपनी पत्नी को लेकर नासिक चले गए। नासिक बस स्टॉप पर उतरने के बाद पत्नी कविता यह कहकर चली गई कि वह थोड़ी देर में अपनी सहेली के घर से कपड़े बदल कर आ रही है। काफी देर तक इंतजार करने के बाद भी कविता नहीं लौटी तो महेश तरसरिया को चिंता हुई। महेशभाई ने बिचौलिए मोमिन को फोन किया। मोमिन ने उत्तर दिया कि अभी तुम सूरत जाओ, चार-पांच दिन में कविता को सूरत भेज देंगे। लेकिन कविता वापस नहीं आई।

See also  सूरत : स्मार्ट बाजार मॉल में लगी आग, कांच तोडकर आग पर काबू पाया गया

मोमिन को कॉल करने पर उसका फोन स्विच ऑफ आ रहा था

मोमिन को कॉल करने पर उसका फोन स्विच ऑफ आ रहा था। कुछ दिनों बाद भी जब कविता वापस नहीं लौटी तो महेश भाई ने उसे वापस बुलाने की कोशिश की। लेकिन ठगबाज गिरोह की महिला गायब हो चुकी थी। महेशभाई ने शादी कराने वाले मोमिन और उसके आदमियों को फोन किया तो  उन्होंने भी फोन उठाना बंद कर दिया। इस पर महेशभाई को अपने साथ धोखाधड़ी होने का मामूल पड़ा। इसलिए महेशभाई ने पुलिस शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने ठग गिरोह के खिलाफ अपराध दर्ज आगे की जांच शुरु की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read