HomeNewsसूरत : ‘डोनेट लाईफ’ के संस्थापक नीलेश मांडलेवाला का अमृत कुंभ पुरस्कार...

सूरत : ‘डोनेट लाईफ’ के संस्थापक नीलेश मांडलेवाला का अमृत कुंभ पुरस्कार से सम्मानित


डोनेट लाइफ के संस्थापक और अध्यक्ष नीलेश मंडलेवाला को श्री स्वामीनारायण गुरुकुल राजकोट संस्थान की अमृत महोत्सव पहल में धर्मजीवन अमृत कुंभ पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

75 व्यक्तियों को धर्मजीवन अमृत कुंभ पुरस्कार से सम्मानित किया 

22 से 26 दिसंबर तक राजकोट में आयोजित अमृत महोत्सव में श्री स्वामीनारायण गुरुकुल राजकोट संस्थान द्वारा आयोजित अमृत महोत्सव में राष्ट्र निर्माण में योगदान देने वाले देश भर के 75 महानुभावों को धर्मजीवन अमृत कुंभ पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। अंगदान के क्षेत्र में गुजरात को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने वाले डोनेट लाइफ के संस्थापक और अध्यक्ष नीलेश मंडलेवाला ने 17 साल पहले गुजरात में अंगदान गतिविधि का बीजारोपण किया। उनके इस भगीरथ प्रयास के दौरान भारत से 1055 अंग और ऊतक दान किए जा चुके हैं और सूरत व दक्षिण गुजरात में 968 लोगों को नया जीवन और नई दृष्टि मिली है। गुरुवर्य श्री देवकृष्णदासजी स्वामी के आशीर्वाद से पी.पी. महंत श्री देवप्रसादजी स्वामी और पी.पी. सद्गुरु श्री धर्मवल्लभदासजी स्वामी के वरदान से उन्हें धर्मजीवन अमृत कुंभ पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

See also  નવાગામના બ્રેઈન ડેડ યુવકના અંગોના દાનથી ત્રણ વ્યક્તિને નવજીવન મળશે

जानें किसे दिया जाता है धर्मजीवन अमृत कुम्भ पुरस्कार

इस वसुधैव कुंटुम्बकम में पूरे मन से मानवता की सेवा करने वाले व्यक्ति को धर्मजीवन अमृत कुम्भ पुरस्कार दिया जाता है ताकि उस व्यक्ति की सेवा की सुगंध पूरे विश्व में फैल जाए, व्यक्ति की मानवता की सेवा कई गुना बढ़ जाए, व्यक्ति दूसरों के लिए विशेष प्रेरणा का स्रोत बन जाए। धर्मजीवन अमृत कुम्भ पुरस्कार उस व्यक्ति को दिया जाता है जिसने राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान दिया हो। इस शुभ कामना को साकार करने के लिए कि वह व्यक्ति या उसकी संस्था, उसकी संस्था के संस्थापक, प्रवर्तक या कार्यकर्ता अमरत्व को प्राप्त कर सकें, उस व्यक्ति की मानवता की मिसाल कायम हो सके। 

See also  सूरत  :  आदर्श सोसाइटी में नौकरानी के पति ने बिल्डर के घर किया ये काम | सूरत

डोनेट लाईफ संस्था 17 सालों से अंगदान के लिए जनजागृति जगा रही है

गौरतलब है कि निलेशभाई और उनकी संस्था डोनेट लाइफ पिछले 17 वर्षों से स्कूलों, कॉलेजों, विभिन्न संस्थानों, विश्वविद्यालयों, श्मशान घाटों और अन्य जगहों पर सेमिनार, ट्रैफिक सिग्नल, नुक्कड़ नाटक, वॉकथॉन, पतंग उत्सव जैसे कार्यक्रम आयोजित कर अंगदान और जीवनदान का संदेश लगातार प्रसारित कर लोगों को इस नेक प्रवृत्ति के महत्व से अवगत कराते रहे हैं। नतीजतन, अंगदान धीरे-धीरे राज्य और देश भर में बढ़ रहा है।

पांच करोड़ से ज्यादा लोगों में अंगदान के लिए जागरुकता पैदा की 

डोनेट लाइफ ने सोशल मीडिया के जरिए राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर साढ़े पांच करोड़ से ज्यादा लोगों में अंगदान के लिए जागरुकता पैदा की है। Donate Life के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए यहां दिये लिंक पर क्लिक कर सकते हैं। 

See also  PAN को आधार से लिंक करने की डेडलाइन 30 जून तक बढ़ाई गई | फिचर, भारत

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read