HomeNewsसूरत : जिंदगी से तंग मां-बेटी तापी नदी में कूदने पहुंचे, बेटी...

सूरत : जिंदगी से तंग मां-बेटी तापी नदी में कूदने पहुंचे, बेटी को तो मौत हो गई और मां बच गई


सूरत शहर के उमरवाड़ा नेहरू नगर में रहने वाली एक मां-बेटी जिंदगी से तंग आकर आज सोमवार को सुबह मक्काई ब्रिज से तापी नदी में कूदने के लिए गए थे। जहां एक 22 वर्षीय विवाहिता ने तापी नदी में पुल से कूदकर जान दे दी। मां अपनी बेटी के पीछे नदी में कूदने ही वाली थी कि राहगीर व फायर ब्रिगेड अधिकारी बलवंत वहां पहुंचे और मां को बचाकर रांदेर पुलिस को सौंप दिया।

पुल से कूदकर 22 वर्षीय युवती की मौत हो गई

दमकल सूत्रों के मुताबिक रूबीना अकबर खान उमरवाड़ा नेहरू नगर में रहती है। 22 साल की रुबीना की शादी अनवर से हुई थी अनवर खान टेंपो चालक है। उनके विवाहित जीवन के दौरान उनका एक बच्चा है। आज सुबह 8 बजकर 18 मिनट पर मां हमीदा अकबरखान (45) और 22 वर्षीय रूबीना मक्काई पुल से तापी नदी में आत्महत्या करने के लिए गए थे। बेटी ने नदी में डूबकर जान दे दी, जबकि मां को बचा लिया गया। जब यह घटना घटी तो मक्कई पुल के पास से गुजर रहे स्थानीय लोगों और दमकल अधिकारी बलवंत ने माता हमीदा को समझाकर उसे तापी नदी से बचाया और रांदेर पुलिस को सौंप दिया।

See also  Rahul With Those Who Denied Gujarat Water: Cm | Surat

दमकल अधिकारी ने मां को समझा-बुझाकर बचाया

घटना की सूचना दमकल विभाग को देने के बाद दमकल अधिकारी बलवंत ने रुबीना को नावडी घाट से बाहर निकाला और 108 के माध्यम से नवी सिविल अस्पताल भेजा। जहां ड्यूटी पर मौजूद चिकित्सक ने रुबीना को मृत घोषित कर दिया।

दमकल अधिकारी बलवंत ने मां हमीदा से पूछताछ करते हुए कहा कि वह जिंदगी से थक चुकी थी और उसने आत्महत्या का फैसला किया। रांदेर पुलिस ने इस संबंध में कानूनी कार्रवाई की है। मां से और पूछताछ की जा रही है। बेटी का शव अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया गया है।

See also  सूरत : चौर्यासी टोल बूथ पर हंगामा, स्थानीय वाहन चालकों से टोल वसूलने का विरोध 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read