HomeNewsसूरत की बेटी को अमेरिका की नासा यूनिवर्सिटी में मिली जगह, शिक्षा...

सूरत की बेटी को अमेरिका की नासा यूनिवर्सिटी में मिली जगह, शिक्षा मंत्री ने किया सम्मानित


सूरत की बेटी का चयन नासा यूनिवर्सिटी में विश्व विख्यात वैज्ञानिक बनने के लिए हुआ है। ध्रुवी जसानी का कड़ी मेहनत के बाद अमेरिका की नासा यूनिवर्सिटी में चयन हुआ है। पूरे देश से सिर्फ दो छात्रों का नासा में चयन हुआ इसमें एक सूरत की ध्रुवी जसानी है। जिससे आज सूरत और गुजरात का नाम अंतरराष्ट्रीय पटल पर छा गया है। ध्रुवी की इस उपलब्धि पर बधाई देने गुजरात राज्य के शिक्षा मंत्री प्रफुल पानसुरिया भी उनके घर पहुंचे। 

ध्रुवी पूरे देश और सूरत को विशेष गौरव प्रदान किया 

भारत में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है और आज के युवा दुनिया भर में देश का नाम फैला रहे हैं। फिर ऐसी ही एक सूरत की बेटी ने अंतरराष्ट्रीय पटल पर पूरे देश का नाम रोशन किया है। इससे सूरत और गुजरात को विशेष गौरव प्राप्त हुआ है। सूरत के वराछा क्षेत्र में लक्ष्मी नारायण सोसाइटी में रहने वाली और मध्यम वर्ग से आने वाली ध्रुवी जसानी को नासा विश्वविद्यालय में प्रवेश मिला है। ध्रुवी जेसानी ने आज अमेरिका की नासा यूनिवर्सिटी में प्रवेश पाकर पूरे देश और सूरत को विशेष गौरव प्रदान किया है।

See also  सूरत : रेलवे स्टेशन से 6 वर्षीय बालिका की अपहृता पुलिस हत्थे चढ़ने के बाद लॉकअप से भागी, फिर पकड़ी गई!

नासा में प्रवेश पाने और साइंटिस्ट बनने का था सपना

ध्रुवी जसानी ने बताया कि 12वीं साइंस पास करने के बाद वह साइंस विषय में लगातार मेहनत कर रही थी। विज्ञान में अलग-अलग तरीकों से शोध करना पसंद करती थी। अक्सर किसी न किसी विषय पर तरह-तरह के शोध करते रहते थी। ध्रुवी को बचपन से ही वैज्ञानिक बनने की लालसा थी। एक चीज से दूसरी चीज पर प्रयोग करना अच्छा लगता था। नासा यूनिवर्सिटी वैज्ञानिक क्षेत्र में करियर बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी रिसर्च यूनिवर्सिटी है । इसमें प्रवेश पाना बहुत कठिन है। इसलिए 12वीं साइंस के बाद मेरा सपना था नासा यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेना और साइंटिस्ट बनना।

ध्रुवी जसानी ने बहुत कठिन परीक्षा पास की

सूरत की ध्रुवी जसानी ने कड़ी मेहनत और परीक्षाओं के बाद नासा में प्रवेश पाने में कामयाबी हासिल की है। ध्रुवी ने नासा के आवेदन में ऑनलाइन अध्ययन किया और चार सबसे कठिन परीक्षाओं को पास किया। पहली परीक्षा में लगभग 3500 छात्रों ने भाग लिया और चौथी परीक्षा में केवल 300 छात्रों का चयन हुआ। हालांकि परीक्षा पूरी होने के बाद हमारे देश के केवल दो छात्र पास हुए उनमें से एक पंजाब का युवक था और दूसरा सूरत की बेटी ध्रुवी जसानी थी।

See also  सूरत : भाजपा की भव्य जीत के लिए कार्यकर्ता और पेज प्रमुख की महेनत जिम्मेदार : सी.आर. पाटिल 

ध्रुवी की अंतरिक्ष उड़ान की उपलब्धता ने नासा को चुना

देश स्तर की बात करें तो सिर्फ एक बेटी प्रथम आई और उसने विश्व स्तर पर अग्रणी नासा यूनिवर्सिटी में स्थान प्राप्त किया है। अब वह अगले कुछ दिनों में अमेरिका में नासा जाएगी। ध्रुवी ने जो सिध्दि प्राप्त कि है उसमे जो स्पेस यात्रि अंतरिक्ष में जाते है तब उन्हे किस प्रकार से विशेष सुविधाएं प्रदान करनी होती है उस पर उपलब्धी प्राप्त की है। जिसमें एक यात्रि अनेक महिने अंतरिक्ष में गुजरात है और इस समय के दौरान वहा पर सुविधा न मिलने के कारण जो संशोधन करना होता है वह पूर्ण नही हो पता। जिसके लिए एक नया तरीका खोजा जा रहा है, जिसके कई फायदे अब मिल सकते हैं। इसी से संबंधित ध्रुवी को उनकी रिसर्च अचीवमेंट्स के लिए नासा युनिवर्सिटी ने चुना है।

नासा में बेटी के चयन से परिवार में खुशी

वराछा की ध्रुवी जसानी एक बेहद साधारण और मध्यम वर्गीय परिवार से आती हैं। ध्रुवी के पिता वराछा में छोटे पैमाने पर हथकरघा का काम करते हैं और उनकी मां घर का काम करके परिवार का गुजरान चलाती हैं। बेटी के बचपन में वैज्ञानिक बनने का सपना पूरा होते देख परिवार बेहद खुश है। बेटी के नाम पर आज परिवार को नाज है।

See also  Ca Student, Four-yr-old Girl Die In Road Accidents | Surat

राज्य के शिक्षा मंत्री प्रफुल्ल पानसेरिया ने बधाई दी

गुजरात राज्य के शिक्षा मंत्री प्रफुल्लभाई पानशेरिया ध्रुवी के घर पहुंचे और सूरत की बेटी ने पूरे देश का नाम रोशन करने पर ध्रुवी को शॉल और गुलदस्ता देकर सम्मानित किया। उन्हें उनके नए करियर के लिए शुभकामनाएं दी गईं। बेटी की उपलब्धि के बारे में प्रफुल पानशेरिया ने कहा कि मध्यम वर्ग से आने वाली बेटी ने कमाल की उपलब्धि हासिल की है। ध्रुवी के पिता हथकरघा व्यवसाय से जुड़े हैं और मां घर में काम करती है। शिक्षा को ही जीवन का लक्ष्य मानते हुए ध्रुवी ने आज नासा में जगह बनाई है। इसे लेकर ध्रुवी दूसरों के लिए एक बेहतरीन मिसाल हैं। साथ ही संदेश दिया कि ध्रुवी आने वाले दिनों में बहुत आगे जाएगी और देश की अन्य लड़कियों को भी इससे प्रेरणा लेकर आगे बढ़ना चाहिए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read