HomeNewsसूरत : अदाणी फाउंडेशन हजीरा ने अनोखे अंदाज में ‘युवा दिवस’ मनाया

सूरत : अदाणी फाउंडेशन हजीरा ने अनोखे अंदाज में ‘युवा दिवस’ मनाया


अदाणी फाउंडेशन, हजीरा द्वारा गुरूवार स्वामी विवेकानंद की जयंती राष्ट्रीय युवा दिवस दो विभिन्न प्रकार की गतिविधियों के साथ मनाया गया। जिले के उमरपाड़ा तालुक में आदिवासी खिलाड़ियों के बीच वॉलीबॉल टूर्नामेंट आयोजित किया गया और राज्य स्तर या उससे ऊपर के स्तर पर खेलने वाले खिलाड़ियों को सम्मानित किया गया। जबकि उत्थान परियोजना के तहत ओलपाड व चोर्यासी तालुकों के 25 सरकारी प्राथमिक विद्यालयों के 2946 छात्र-छात्राओं के साथ युवा दिवस मनाया गया। 

उमरपाडा में वॉलीबॉल प्रतियोगिता आयोजित की गई 

आदिवासी युवाओं के बीच ग्रामीण खेलों को बढ़ावा देने के लिए अदाणी फाउंडेशन, हजीरा ने उमरपाड़ा तालुक के उन 15 खिलाड़ियों की पहचान की जिन्होंने विभिन्न राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खेलों में जगह बनाई है। युवा दिवस पर उन्हें आज उमरपाड़ा तालुका के चोखवाड़ा में आयोजित वॉलीबॉल टूर्नामेंट में उपस्थित गणमान्य व्यक्तियों द्वारा सम्मानित किया गया।

See also  अनंत-राधिका वेडिंग में शामिल होने के लिए न्यूयॉर्क से मुंबई लौटे शाहरुख खान | मनोरंजन News
Story-12012023-B14
उमरपाडा में  एथलीटों के लिए सम्मान और आत्म-जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए

 

वॉलीबॉल टूर्नामेंट में उमरपाड़ा तालुक की 16 टीमों के कुल 160 खिलाड़ियों ने भाग लिया। फाइनल में चोखवाड़ा की टीम टूर्नामेंट की विजेता बनी। वॉलीबॉल टूर्नामेंट में भाग लेने वाली प्रत्येक टीम को अदाणी फाउंडेशन हजीरा, सूरत द्वारा वॉलीबॉल किट दी गई।

युवाओं को समझदार और जिम्मेदार नागरिक बनाने की नींव रखी गई

उत्थान प्रोजेक्ट द्वारा एक विशेष संदेश के साथ यह दिन मनाया गया, जिसने “किशोरावस्था: उपचार और समाधान” शीर्षक से सरकारी प्राथमिक विद्यालय, मोरा के कक्षा 5 से 8 तक के छात्रों के लिए एक आत्म-जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया। इस कार्यक्रम में किशोर विशेषज्ञ डॉ. लतिका शाह द्वारा बच्चों के साथ अनुभव और ज्ञान साझा किया गया। जिसमें कक्षा छह से आठ तक के 200 विद्यार्थियों ने भाग लिया। साथ ही सभी स्कूलों में स्वामी विवेकानंदजी के जीवन पर आधारित नाटक का प्रदर्शन किया गया और जीवन पर आधारित फिल्म दिखाई गई। विवेकानंद द्वारा दिए गए सूत्रों का एक चार्ट तैयार किया गया था और एक प्रदर्शनी आयोजित की गई थी। पूरे उत्सव का उद्देश्य कल के युवाओं को समझदार और जिम्मेदार नागरिक बनाने की नींव रखना था। इस प्रकार युवा दिवस समारोह छात्रों के लिए एक जीवन प्रेरक कार्यक्रम बन गया।

See also  श्रीलंका: गंभीर आर्थिक संकट के उबरते देश में इस साल छह माह में 9 लाख पर्यटक पहुंचे | विश्व News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read