HomeNewsमाउंट आबू लद्दाख से भी ठंडा, 28 साल का रिकॉर्ड टूटा

माउंट आबू लद्दाख से भी ठंडा, 28 साल का रिकॉर्ड टूटा


उत्तर भारत के लोग इस समय हाड़ कंपा देने वाली ठंड से बेहाल हैं। राजस्थान, उत्तर प्रदेश, पंजाब, दिल्ली, बिहार और हरियाणा के लोग जहां कड़ाके की ठंड का सामना कर रहे हैं, वहीं राजस्थान के लोग कड़ाके की ठंड की चपेट में हैं। ठंड इतनी होती है कि लद्दाख और मनाली भी पीछे छूट जाते हैं।

 माउंट आबू में सर्दी ने 28 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। यहां न्यूनतम तापमान माइनस 7 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। इससे पहले साल 1994 में 12 दिसंबर को माउंट आबू में तापमान माइनस 7.4 डिग्री पर पहुंच गया था।

चार दिन और कड़ाके की ठंड पड़ने का अनुमान है

See also  राजस्थान : शमशान घाट में लगा मंच, 'मुन्नी बदनाम हुई' गाने पर नाचे लोग, विश्व हिन्दू परिषद ने की आयोजकों के खिलाफ कार्यवाही की मांग | प्रादेशिक

मौसम विभाग ने अगले चार दिनों तक आबू में हाड़ कंपा देने वाली ठंड का अनुमान जताया है। न्यूनतम तापमान माइनस से ऊपर रहेगा, जबकि 19 जनवरी के बाद तापमान में थोड़ा इजाफा हो सकता है, जिससे लोगों को ठंड से आंशिक राहत मिलेगी।

मौसम विज्ञान केंद्र जयपुर के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि माउंट आबू में सबसे कम न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया। माउंट आबू ऊंचाई पर स्थित होने के कारण यहां सबसे कम तापमान का अनुभव होता है।

अगले 3 दिन शीतलहर और घने कोहरे का अलर्ट

मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली-एनसीआर में 3 दिनों तक न्यूनतम तापमान 3 डिग्री सेल्सियस रह सकता है, शीतलहर जारी रहेगी, कोहरे के कारण लोगों को कड़ाके की ठंड का सामना करना पड़ेगा। मौसम विभाग के अनुसार 16 17 व 18 जनवरी को शीतलहर का प्रकोप रहेगा। जबकि 19, 20 व 21 जनवरी को घना कोहरा छाए रहने की संभावना है। इस बीच, दिल्ली-एनसीआर के प्रमुख स्टेशनों पर न्यूनतम तापमान 3 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 21 डिग्री सेल्सियस को छू सकता है।

See also  राजस्थान : अब से अंतर्जातीय विवाह करने वाले युगल को मिलेंगे पांच के बदले दस लाख, सरकार ने किया ऐलान | फिचर, प्रादेशिक

जम्मू-कश्मीर से लेकर हिमाचल तक बर्फबारी से राहत मिलेगी

जम्मू-कश्मीर से लेकर हिमाचल तक बर्फबारी से राहत मिलेगी, लेकिन अगले तीन दिन और रात कड़ाके की ठंड होगी। मौसम विभाग के मुताबिक 19 जनवरी तक उत्तर भारत के मैदानी इलाकों के कई शहरों का तापमान शून्य से नीचे जा सकता है। 20 जनवरी के बाद ठंड से आंशिक राहत मिलने की संभावना है। 23 से 24 जनवरी को पश्चिमी विक्षोभ के कारण बारिश की संभावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read