HomeNewsदीवाली में अंगदान से जगाया उत्साह, ब्रेनडेड सदस्य के किडनी, लीवर दान...

दीवाली में अंगदान से जगाया उत्साह, ब्रेनडेड सदस्य के किडनी, लीवर दान से तीन को दिया नया जीवन


हादसे में मारे गए मोभी का अंग दान किया गया, हर्ष संघवी ने परिवार को सांत्वना दी

पिछले 20 तारीख को सूरत के हजीरा में सड़क हादसे में मारे गए धर्मेंद्र सिंह के परिवार ने अंगदान कर नेक काम किया है। दो किडनी और एक लीवर दान किया और तीन अंग विफलता से पिडित लोगों को नया जीवन दिया। गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी परिवार से मिलने सिविल अस्पताल पहुंचे। वहां उन्होंने कहा कि उन्होंने त्योहार के दौरान सबसे अच्छा काम किया है। मैं प्रार्थना करता हूं कि भगवान परिवार को इस दर्द को सहन करने की शक्ति दें।

महोत्सव में अंगदान ने तीन को दिया जीवन

आज देश और दुनिया में अंगदान को लेकर लोगों में जागरूकता बढ़ रही है। और लोग मरने के बाद दूसरों के काम आने के लिए अपने अंग दान कर रहे हैं। ऐसे ही एक मामले में सूरत के एक परिवार ने अपने परिवार के सदस्य की मृत्यु के बाद किडनी, लीवर दान किया और तीन को नया जीवन दिया। दिवाली के मौके पर परिवार की ओर से दो किडनी और एक लीवर दान किया गया है।

See also  Surat | સાંજ પડતાની સાથે જ શહેરમાં શરૂ થઈ ગયો ધોધમાર વરસાદ, જુઓ દ્રશ્યો વીડિયોમાં "https://gujarati.abplive.com/short-videos/news/Surat" As Evening Fell, Torrential Rain Started In The City, See The Scene In The Video

एक सड़क दुर्घटना में उनकी मृत्यु हो गई

20 तारीख को सूरत के हजीरा रोड पर हुए हादसे में धर्मेंद्र सिंह राजपूत नाम का शख्स गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे इलाज के लिए सिविल अस्पताल ले जाया गया। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। धर्मेंद्र सिंह राजपूत के परिवार में पत्नी, बेटा और एक बेटी है। त्योहार के दौरान जब घर के मोभी की हादसे में मौत हो गई तो परिवार में कोहराम मच गया और परिवार मातम में था। इन सबके बीच परिवार ने समाज में बेहतरीन मिसाल कायम करने का काम किया है। परिवार ने ब्रेनडेड महेंद्र सिंह राजपूत के तीन महत्वपूर्ण अंगों को दान कर अन्य तीन को नया जीवन देने का काम किया है। महेंद्र सिंह की पत्नी इंदु राजपूत ने कहा कि मेरे पति की एक दुर्घटना में मौत के बाद उनकी जान नहीं बचाई जा सकी, लेकिन उनके शरीर को दान कर यह फैसला लिया गया है ताकि दूसरे अपना जीवन जी सकें। अपने पति को नहीं बचा सकी लेकिन उनके माध्यम से दूसरों को बचाने पर गर्व होगा।

See also  क्रिकेट : भारत ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज में हुआ एक बड़ा बदलाव, तीसरे टेस्ट मैच के लिए मैदान बदला

अंग दाता के परिवार से मिलने पहुंचे हर्ष संघवी

अंगदान करने वाले महेंद्र सिंह राजपूत के परिवार के पास पहुंचे गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी। हर्ष संघवी ने परिवार के साथ शोक व्यक्त किया। इस दौरे के बाद हर्ष संघवी ने कहा कि अंगदान में गुजरात और सूरत सबसे आगे रहे हैं। महेंद्र सिंह राजपूत की सड़क हादसे में मौत हो गई। मैं उनके परिवार से मिला हूं। अपने परिवार में उन्होंने पाया कि बेटा, बेटी और पत्नी थे। पति और पत्नी एक बहुत ही साधारण वर्गीय जीवन जी रहे थे। दोनों कमाकर परिवार का भरण पोषण कर रहे थे।

See also  राजकोट : एम्स का काम 60 फीसदी पूरा, अक्टूबर में बनकर हो सकता है तैयार

सिविल अस्पताल के स्टाफ व परिजनों ने पुष्पांजलि अर्पित की

परिवार से मिलने के बाद आगे कहा गया कि दुख की इस घड़ी में भी परिवार ने अंगदान का फैसला कर बहुत नेक काम किया है। दिवाली के त्योहार के दौरान परिवार का यह प्रदर्शन बहुत ही बेहतरीन और काबिले तारीफ है। उन्होंने अंगदान कर तीन लोगों को नया जीवन देने का बेहतरीन काम किया है। मैं प्रार्थना करता हूं कि ईश्वर परिवार को इस दुख को सहने की शक्ति प्रदान करें। मैं इस परिवार को हाथ जोड़कर प्रणाम करने आया हूं। उन्होंने किडनी और लीवर दान कर बहुत अच्छा काम किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read