HomeNewsदवा व्यापारी के साथ धोखाधड़ी, फर्जी फार्मा कंपनी लगाकर दो भाइयों ने...

दवा व्यापारी के साथ धोखाधड़ी, फर्जी फार्मा कंपनी लगाकर दो भाइयों ने दवा विक्रेता से 16.43 लाख रुपये ठगे


फर्जी डोक्युमेन्ट के आधार पर जीएसटी नंबर प्राप्त कर दवा मंगाई और पेमेन्ट का भुगदान ही कर धोखाधडी की

फर्जी जीएसटी सर्टिफिकेट बनाकर दो भाइयों ने ड्रग एजेंसी से 16.43 लाख रुपये ठगे। पूरा मामला चौकबाजार पुलिस के पास पहुंचा क्योंकि जिस कंपनी के नाम से दवा मंगवाई गई थी वह भी फर्जी निकली। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जांच कर रही है।

दवा विक्रेता को भरोसे में रखकर सामान खरीदा गया

सूरत के अडाजन में एलपी सवानी रोड स्थित शांतिसागर सोसाइटी के रहने वाले सावन चंद्रकांत पटेल वस्तादेवी रोड स्थित सूरत दवा बाजार बिल्डिंग में पवन डिस्ट्रीब्यूटर्स नाम की ड्रग एजेंसी के मैनेजर हैं। मेनकाइंड फार्मा स्युटिकल में योगेश घनश्याम जेतानी एमआर। है पिछले 30 तारीख को योगेश ने विभिन्न दवाओं के ऑर्डर व्हाट्सएप पर भेजे। सिंगनपोर रोड स्थित राधेश्याम सोसाइटी में वाणी मेडिको के मालिक मनीष घनश्याम जेतानी के पास भी एक ऑर्डर था। जिसके अनुसार 8.49 लाख की दवा भेजी गई। फिर नेकटर फार्मा कंपनी को ऑर्डर दिया। योगेश ने कहा कि वह कंपनी उनके बड़े भाई मनीष जेतानी की है। इसलिए विश्वास होने पर सावन पटेल ने माल भिजवाना शुरू कर दिया।

See also  दीपावली पर्व के दौरान नकदी और आभूषण ले जाते समय सावधान रहें, बड़ी रकम लेनदेन में पुलिस की मदद ले

दवा व्यापारी ने जांच की तो पता चला कि यह फर्जी कंपनी है

धीरे-धीरे दोनों तेजानी भाइयों को कुल 16.23 लाख रुपये का माल भिजवाने के बाद पेमेन्ट का भुगतान करने के लिए आनाकानी होने लगी। संदेह होने पर सावन पटेल ने जीएसटी पोर्टल में ऑर्डर चेक किया। जिसमें जीएसटी नंबर का पता अलग-अलग बताया गया। झूठे दस्तावेज तैयार किए और फर्जी जीएसटी नंबर प्राप्त किया और प्रमाण पत्र का उत्पादन किया। बाद में योगेश जेतानी के सिंगनपोर स्थित आवास की तलाशी ली तो घर बंद मिला। पता चला कि योगेश वेडरोड स्थित एक अन्य घर पर रह रहा था वहा चेक करने के बाद पतला लगा की वह पिछले अगस्त में वह लंदन गया था। उसके बाद मनीष जेतानी ने भुगतान का आश्वासन दिया।

See also  कंसर्ट के बाद सोनू निगम पर हमला, विधायक के बेटे पर मामला दर्ज

पुलिस ने लूट का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है

जेतानी बंधु ने फर्जी जीएसटी प्रमाणपत्र बनाकर और नेक्टर फार्मा के वितरक होने की झूठी धारणा बनाकर धोखाधड़ी की। इस मामले में सावन पटेल ने शिकायत दर्ज कर चौकबाजार पुलिस ने मनीष घनश्याम जेतानी और उनके भाई योगेश जेतानी के खिलाफ 16.23 लाख रुपये की धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read