HomeNewsत्यौहारी सीजन और बेमौसम बारिश ने बढ़ाये खाद्य तेलों के दाम; गृहि‌णियों...

त्यौहारी सीजन और बेमौसम बारिश ने बढ़ाये खाद्य तेलों के दाम; गृहि‌णियों का गड़बड़ाया बजट


एक सप्ताह में 15 लीटर टिन के भाव में 100 से 110 रुपये का इजाफा

दिवाली आने के साथ ही लोगों में इसको लेकर तैयारियां शुरू हो गई है पर इस बीच खाद्य तेल की कीमतों में हुई बढ़ोतरी से गृहणियों का गृह बजट गड़बड़ा गया है। अब दिवाली सेलिब्रेशन में होने वाला खर्चा बढ़ने वाला है। खाद्य तेलों की कीमतों में बढ़ोतरी के पीछे कुछ कारण हैं जिनमें रूपये के सामने डॉलर की मजबूती, बेमौसम बारिश और तेलों की बढ़ती मांग शामिल हैं।

बीते दिनों में हुई है बढ़ोतरी

आपको बता दें कि पिछले एक सप्ताह में नारियल तेल, और अन्य खाद्य तेलों के 15 लीटर टिन के दाम में करीब 100 रुपये से  110 रुपये की बढ़ोतरी हुई हैं। खाद्य तेल विक्रेताओं का कहना है कि दिवाली पर लोग मिठाइयां, फरसान और तरह-तरह के पकवान बनाते हैं और घरों में खाने के तेल की खपत आम दिनों की तुलना में मेहमानों के आने-जाने से ज्यादा होती है। ऐसे में खाद्य तेल की मांग बढ़ जाती है।

See also  Smc: Smc To Boost Coffers By Offering Consultancy Service | Surat

गौरतलब है कि अब जब खाद्य तेल की मांग सामान्य दिनों की तुलना में अधिक है, तो इसके विपरीत उत्पादन में कमी आई है। कुछ दिनों पहले राजकोट और अहमदाबाद में बेमौसम बारिश से मूंगफली की फसल पर असर पड़ा है। पिछले 4 दिनों में 15 लीटर अरंडी के तेल के एक टिन की कीमत 2870 रुपये थी, जो अब 2980 रुपये है। पामोलिन तेल की कीमतें भी आसमान छू रही हैं। टिन की कीमत जो पिछले 4 दिनों में 1550 रुपये थी, आज 1650 रुपये पर पहुंच गई है। जिस तरह से खाद्य तेलों की कीमतें बढ़ रही हैं उसका असर गृहणियों के बजट पर पड़ा है। हालांकि व्यापारी आने वाले दिनों में खाद्य तेलों की कीमतों में गिरावट की संभावना भी जता रहे हैं।

See also  MNTG ने प्रोबिट लिस्टिंग और डिसेंट्रैलाइज्ड क्रिप्टो कैश गेम की घोषणा की 

बढ़ती मांग और बेमौसम बारिश से दाम बढ़े

कीमतों में बढ़ोतरी के बारे में एक व्यापारी ने कहा कि दीवाली पर तिल के तेल सहित सभी प्रकार के खाद्य तेल की अच्छी मांग है। वहीं बेमौसम बारिश से फसलों पर असर पड़ने से उत्पादन प्रभावित हुआ है। इसके अलावा डॉलर की कीमतों में बढ़ोतरी से विदेशों से आयातित पाम तेल की कीमत में भी इजाफा हुआ है, जिसका असर अन्य खाद्य तेलों पर भी देखने को मिल रहा है। हालांकि, आने वाले दिनों में खाद्य तेल की कीमतों में कमी आने की संभावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read