HomeNewsघर आंगन में खेली रही बच्ची का अपहरण कर कोल्हापुर के पास...

घर आंगन में खेली रही बच्ची का अपहरण कर कोल्हापुर के पास गांव में किराये के मकान में रख शोषण करने वाले युवक को 20 साल की जेल


बचाव पक्ष के सजा पर रोक लगाने की मांग को अदालत ने खारिज कर दिया

सचिन जीआईडीसी थाना क्षेत्र में रहने वाले एक परिवार की साढ़े आठ वर्षीय बच्ची 23 सितम्बर 2021 को अपने माता-पिता की अनुपस्थिति में अपने घर के पास अन्य बच्चों के साथ खेल रही थी. इसी दौरान 21 वर्षीय आरोपी सोनू उर्फ ​​सचिन कांता राजभर ने दुष्कर्म की नीयत से बच्ची का अपहरण कर लिया और महाराष्ट्र के कोल्हापुर जिले के एक गांव में ले जाकर किराए के मकान में रहने लगा, जहां एक महीने तक उसने बच्ची के साथ दुष्कर्म किया।

कोल्हापुर बालगृह से आया फोन 

वहीं दूसरी तरफ, बच्ची के माता-पिता इधर-उधर तलाश कर रहे थे, तभी कोल्हापुर बालगृह से फोन आया कि उनकी बेटी वहीं है। इसके बाद सचिन द्वारा बच्ची के अपहरण करने की जानकारी सामने आई। बाद में, मेडिकल जांच से पता चला कि आरोपी सोनू उर्फ ​​सचिन ने बच्चे का यौन उत्पीड़न किया था।  इसके बाद आरोपी सचिन को सचिन जीआईडीसी पुलिस ने ईपीसीओ -363,366,3763 (ए) (बी) और पोक्सो अधिनियम की धारा 4,5 (एल) (एम) और 6 के तहत गिरफ्तार किया था।

See also  સુરતમાં પોલીસ કમિશનર કચેરીમાં બે મહિલાઓએ સામસામે પથ્થરમારો કર્યો

अदालत ने सुनाई सजा

इस मामले में हुई अंतिम सुनवाई में एपीपी दीपेश दवे ने सरकार के लिए 21 गवाह और दस्तावेजी साक्ष्य पेश किए। बचाव पक्ष ने आरोपी की उम्र और पहले गुनाह का हवाला देते हुए सजा पर रोक लगाने की मांग की जिसे अदालत ने खारिज कर दिया। सुनवाई के दौरान अदालत ने आरोपी को सभी अपराधों का दोषी पाया और आरोपी सचिन को EPICO-376(A)(B) के तहत 20 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई और पीड़िता को 4 लाख का मुआवजा भुगतान करने का निर्देश दिया।

(यौन उत्पीड़न के मामलों में सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों के अनुरूप पीड़िता की निजता का सम्मान करते हुए उनकी पहचान उजागर नहीं की गई है।)

See also  સુરતમાં ક્રિકેટ રમતી વખતે ફરી એક યુવકનું મોત, આહિર સમાજમાં શોકનું મોજુ ફરી વળ્યું

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read