HomeNewsएफआईएच पुरुषों का हॉकी विश्व कप 13 जनवरी 2023 शुरु हो रहा,...

एफआईएच पुरुषों का हॉकी विश्व कप 13 जनवरी 2023 शुरु हो रहा, इन दो भव्य स्टेडियम पर टिकी रहेंगी नजरें


एफआईएच पुरुषों का हॉकी विश्व कप 13 जनवरी 2023 से शुरू होने जा रहा है। यह लगातार दूसरी बार होगा जब भारत इस भव्य आयोजन की मेजबानी करेगा। 2018 में भूवनेश्वर ओडिशा का एकमात्र शहर था जिसने इस आयोजन की मेजबानी की थी लेकिन इस बार राउरकेला संयुक्त रूप से मैचों का आयोजन करेगा। इस बार हॉकी प्रेमियों की नजरें जिन दो स्टेडियमों पर टिकी रहेंगी वे हैं भुवनेश्वर स्थित कलिंगा अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम और राउरकेला में नवनिर्मित बिरसा मुंडा अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम। बाद वाले स्टेडियम का नाम प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी बिरसा मुंडा के नाम पर रखा गया है और विशेष रूप से विश्व कप के दौरान मैच आयोजित करने के लिए ही बनाया गया है।

See also  સુરતમાં ભાજપના નેતા અને પાલિકાના પદાધિકારીઓનો વિવેકાનંદનો પ્રેમ સોશિયલ મીડિયા પુરતો સીમિત રહ્યો

जानिये दो स्टेडियमों की खास बातें

आपको बता दें कि आगामी एफआईएच पुरुष हॉकी विश्व कप कलिंगा और बिरसा मुंडा स्टेडियम में दो-दो नई तैयार की गई पिचों पर खेला जाएगा। खेले जाने वाले 44 मैचों में से फाइनल सहित 24 मैच भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में खेले जाएंगे। जबकि बाकी 20 मैच बिरसा मुंडा स्टेडियम में खेले जाएंगे।

नवनिर्मित बिरसा मुंडा स्टेडियम में बैठने की क्षमता प्रतिष्ठित कलिंगा स्टेडियम से बड़ी है। कलिंगा स्टेडियम में फिलहाल 15,000 दर्शक बैठ सकते हैं जबकि बिरसा मुंडा स्टेडियम में 20,000 दर्शक बैठ सकते हैं।

टूर्नामेंट के पहले मैच में 13 जनवरी को अर्जेंटीना और दक्षिण अफ्रीका की भिड़ंत कलिंगा स्टेडियम में होगी। वहीं 14 जनवरी को न्यूजीलैंड और चिली का शुरुआती मैच होगा जो वह बिरसा मुंडा स्टेडियम में खेला जाने वाला पहला अंतरराष्ट्रीय मैच भी होगा। भारतीय टीम राउरकेला में पहले दो मैच खेलेगी और अंतिम लीग मैच के लिए भुवनेश्वर लौट आयेगी।

See also  हॉकी इंडिया ने मुझे अपना करियर फिर से बनाने का मौका दिया : जरमनप्रीत सिंह | खेल News

आपको बता दें कि पिछले कुछ वर्षों से कलिंगा स्टेडियम भारतीय हॉकी का मानो घरेलू मैदान सा बन गया है और अधिकांश घरेलू मैच यहीं खेले जाते हैं। स्टेडियम ने हाल ही में FIH प्रो लीग मैचों की मेजबानी की जिसमें भारत, स्पेन और न्यूजीलैंड की टीमें शामिल थीं। दूसरी ओर, दक्षिण कोरियाई जूनियर टीम ने बिरसा मुंडा स्टेडियम में कुछ मैच खेले और भारत ने भी नई स्थापित पिचों पर अपना प्रारंभिक प्रशिक्षण शुरू किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read