HomeNewsइस बार एक हजार से अधिक जगहों पर नवरात्रि की धूम

इस बार एक हजार से अधिक जगहों पर नवरात्रि की धूम


शक्ति की आराधना के पावन पर्व नवरात्रि में अब जब चंद दिन बचे है और जब इस बार दो सालों के बाद कोरोना प्रतिबंध के बाद पहले की ही तरह ही उत्सव मनाने की अनुमति मिलने के बाद लोगों में बहुत उत्साह देखने को मिल रहा है। इस बीच, इस साल नवरात्रि की मस्ती के लिए सूरत में 1,000 से अधिक गरबा व्यवस्था के साथ त्योहार का रंगारंग उत्सव मनाया जाएगा।

आपको बता दें कि कोरोना पाबंदियों के हटने के साथ ही इस साल नवरात्रि पर्व के दौरान सूरत में करीब 20 छोटे और बड़े व्यावसायिक और सामाजिक कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। इसके अलावा गली गरबा की पारंपरिक व्यवस्था भी की गई है। सामजिक संस्कृति फल-फूल रही हो तो समाजों में भी भव्य नवरात्रि उत्सव इस तरह से आयोजित किया जाएगा कि यह व्यावसायिक योजनाओं के साथ प्रतिस्पर्धा करेगा। वेसु और अडाजन क्षेत्र की कई सोसायटियों में बंपर प्राइज, हाईटेक डीजे, साउंड सिस्टम के साथ तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। सभाओं में नवरात्रि पर्व के साथ-साथ ‘गेट टू गेदर’ जैसे कार्यक्रमों के तहत नौ दिनों के भोजन और प्रसादी का भी आयोजन किया गया है।

See also  Surat: આ બે કુખ્યાત ગેંગના ગેંગસ્ટર્સને પકડવામાં ક્રાઈમ બ્રાન્ચને મળી મોટી સક્સેસ, જુઓ શું છે હિસ્ટ્રી

दैनिक पास और सीजन पास की मांग

नवरात्रि के आयोजक डैनी निर्बन ने कहा कि इस साल नवरात्रि पर्व को लेकर शहरवासियों और गरबा-खिलाड़ियों का जुनून कई गुना बढ़ गया है। इस साल कमर्शियल प्लानिंग में खिलाडिय़ों से बड़ी संख्या में पूछताछ हो रही है। औसतन रोजाना पास 250 से 600 रुपये और सीजन पास 2 हजार से 4 हजार रुपये में मिल रहे हैं। कोरोना के दो साल बाद नवरात्रि मनाने के लिए एक और उत्साह देखने को मिल रहा है। 


इन स्थलों पर होगा गरबा आयोजन

सरसाना एसी डोम :

सरसाना एसी (डोम) गुंबद में आयोजित होने वाले नवरात्रि उत्सव में लोग डांडिया राजकुमारी ऐश्वर्या मजमुदार की धुन पर वादक झूम उठेंगे। आयोजक हिरेन काकड़िया ने कहा कि एसी गुंबद में आयोजित नवरात्रि में 18 से 20 हजार गरबा प्रेमियों और दर्शकों की उपस्थिति की व्यवस्था की गई है। प्रति दिन 100 पुरस्कार होंगे। युवाओं, लोगों के लिए एक विशेष सेल्फी बूथ के साथ डोम में अस्पताल यानि चिकित्सा उपचार की सुविधा होगी। पारंपरिक पोशाक में 4500 खिलाड़ी और गैर पारंपरिक पोशाक में 2 हजार खिलाड़ी प्रतिदिन गरबा, डांडियार, डोढिया खेलेंगे।

See also  સાસુ-સસરાની સેવા ન કરવી એને પત્નીની ક્રુરતા ગણી પતિની છુટાછેડાની માંગ મંજુર

सीबीपटेल हेल्थ क्लब, वेसु-वीआईपी रोड :

सीबीपटेल हेल्थ क्लब में गरबा क्वीन गीता रबारी के संरक्षण में नवरात्रि पर्व मनाया जाएगा। आयोजक मोहन नायर ने बताया कि 26 सितंबर से 4 अक्टूबर तक नवरात्रि उत्सव के साथ 25 तारीख को प्री-नवरात्रि उत्सव मनाया जाएगा। नवरात्रि के दौरान पारंपरिक और गैर-पारंपरिक खिलाड़ी हाईटेक साउंड सिस्टम के साथ नृत्य करेंगे। स्टेडियम में 10,000 लोगों की क्षमता है और इसमें खिलाड़ियों और दर्शकों के लिए एक चिकित्सा केंद्र की सुविधा है।

उमियाधाम, वराछा:

वराछा का उमियाधाम गुजरात और महाराष्ट्र में सूरत में पारंपरिक गरबा उत्सव के लिए प्रसिद्ध है। प्रमुख प्रहलादभाई ने कहा कि 26 तारीख की रात 9 बजे माताजी के घाट की स्थापना के साथ नवरात्रि पर्व की शुरुआत होगी। दुर्गाष्टमी की महाआरती, माताजी हवन 3 अक्टूबर को होगा। दुर्गाष्टमी के मौके पर 25 हजार दिए की महाआरती होगी। हाथों में दीप लिए सैकड़ों श्रद्धालु मंदिर परिसर में मौजूद रहेंगे और माताजी की आरती करेंगे। खिलाड़ियों के साथ एक, दो, तीन ताली वाले पारंपरिक गरबा करेंगे।

See also  आग के बाद जीपीसीबी की कार्रवाई में अनुपम केमिकल कंपनी बंद की , 1 करोड़ रुपये का जुर्माना

चरोतार पटेल युवाका मंडल, लाल दरवाजा :

साल 1981 में असल सूरत में लाल दरवाजा चार रास्ता के पास चरोतार पटेल युवा मंडल द्वारा शुरू किया गया गरबा उत्सव आज भी बरकरार है। आयोजक नवलभाई पटेल ने बताया कि 1981 में घर में पुत्र के जन्म के शुभ अवसर पर गरबा का आयोजन किया गया था। हालांकि उस समय बड़ी संख्या में श्रद्धालु बहनें मौजूद थीं और आज तक आयोजित की जा रही हैं। श्रद्धा, आस्था और भक्ति से माताजी की स्थापना होती है। यहां बहनें ही एक, दो, तीन ताली का गरबा खेलती हैं। यहाँ पैरों में जूते पहने बिना गरबा किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read